Breaking News
भोपाल में लव जिहाद का पहला मामला दर्ज, असद ने आशु बन लड़की से की दोस्ती धर्म छुपाकर किया दुष्कर्म  |  महाराष्ट्र 10वीं, 12वीं क्लास की एसएससी की बोर्ड परीक्षा की तारीख घोषित, वर्षा गायकवाड़ ने दी जानकारी   |  तुषार कपूर की फिल्म ''मारीच'' में पुलिस ऑफिसर का किरदार निभाते आएंगे नजर   |  सकत चौथ व्रत 2021: जाने कब हैं सकत चौथ, भगवन गणेश के बिना मानी जाती हैं पूजा अधूरी   |  पंजाब नेशनल बैंक: 1 फरवरी ने नहीं निकाल पाएंगे पीएनबी बैंक के इन एटीएमों से पैसा, जाने क्या हैं कारण   |  बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने राम मंदिर निर्माण के लिए दिया बड़ा दान, कहा- राम मंदिर सभी भारतीयों का सपना  |  गणतंत्र दिवस 2021: 23 जनवरी को बंद रहेंगे ये मेट्रो स्टेशन रूट्स, इन रास्तों पर भी जाने से बचें  |  सर्दियों में बनाये नूडल्स सूप जो टेस्ट के साथ हेल्थ गुडनेस का पैकेज भी हैं जाने आसान सा रेसिपी  |  कुछ फलों के छिलकों का इस्तेमाल करने से होता हैं फायदा, बढ़ाएगा चेहरे की चमक, जाने कैसे   |  यूरिक एसिड के बढ़ने का क्या हैं कारण साथ में जानिए किन लक्षणों से होती हैं पहचान, करे कंट्रोल   |  
धर्म
Name 13/01/2021 : 15:29 PM
लोहड़ी 2021: जाने लोहड़ी के दिन आग में रेवड़ी और मूंगफली डालने के क्या हैं विशेष महत्व तथा मान्यताएं
Total views
लोहड़ी को पंजाब, हरियाणा और हिमाचल समेत पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जाता है।

नई दिल्ली, आरएनएन। हर साल 13 जनवरी को लोहड़ी मनाते हैं। लोहड़ी भंगड़े के साथ डांस और आग सेंकते हुए खुशियां मनाने का पर्व है। इस त्योहार को पंजाब, हरियाणा और हिमाचल समेत पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जाता है।  इस त्योहार में मूंगफली, रेवड़ी, पॉपकॉर्न और मूंगफली खाने का व लोगों को प्रसाद के रूप में देने की विशेष परंपरा है। इससे पहले लोग शाम को सबसे पहले आग में रेवड़ी व मूंगफली डालते हैं। लोहड़ी को किसानों का प्रमुख त्योहार माना जाता हैं ऐसे में फसल मिलने के बाद मनाए जाने वाले पर्व में अग्नि देवता को किसान प्रसन्न करने के लिए लोहड़ी जलाते हैं और उसकी परिक्रमा भी करते हैं। मान्यता है कि ऐसा करने से दुखों का अंत होता है और परिवार में सुख-समृद्धि और खुशियां आती हैं। जलती लोहड़ी में गजक और रेवड़ी को अर्पित करना बहुत ही शुभ माना जाता है। 
लोहड़ी की शाम को होलिका दहन की तरह ही उपलों और लकड़ियों के छोटे ढेर से आग जलाई जाती है। इसके आस-पास परिवार के सभी सदस्य खड़े होते हैं और ढ़ोल-नगाड़ों पर डांस और लोक गीतों को गाकर लोहड़ी सेलिब्रेट करते हैं। महिलाएं अपने छोटे बच्चों को गोद में लेकर लोहड़ी की आग को तपाती हैं। माना जाता है ऐसा करने से बच्चा सेहतमंद रहता है और उसे बुरी नजर नहीं लगती। हिन्दू पौराणिक शास्त्रों में अग्नि को देवताओं का प्रमुख माना गया है। मान्यता है कि लोहड़ी की अग्नि में अर्पित किया गया अन्न देवताओं तक पहुंचता है। ऐसा करके लोग सूर्य देव व अग्निदेव के प्रति अपनी कृतज्ञता अर्पित करते हैं। लोगों का मानना है कि ऐसा करने से सभी का हक प्राप्त होता है साथ धरती माता अच्छी फसल देती हैं। किसी को अन्न की कमी नहीं होती। पंजाब में इस त्योहार की अलग धूम देखने को मिलती है। खास तौर पर शादी के बाद जिसकी पहली लोहड़ी होती है उसे अपने घर में रहकर लोहड़ी मनाना और बुजुर्गों का आशीर्वाद लेना महत्वपूर्ण माना जाता है। 



Advertisement




Copyright @ 2018 Rashtriya News Network