Breaking News
मैट्रिमोनियल साइट से हुई मुलाकात, शादी का झांसा देकर टीवी एक्ट्रेस के साथ किया रेप, शिकायत दर्ज   |  किसान आंदोलन को लेकर बनाई कमेटी पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी, सदस्य सिर्फ राय दे सकते हैं  |  सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021 में नकल पर रोक के लिए बोर्ड ने उठाया बड़ा कदम, बायोमेट्रिक सिस्टम से लगेगी हाजिरी   |  गेट 2021: आईआईटी मुंबई ने परीक्षा के लिए जारी की गाइडलाइंस, जाने परीक्षा के समय, तिथि   |  भुवनेश्वर में आल वुमन स्कूटर रैली का हुआ आयोजन, महिलाओं ने दिया यातायात तथा हेलमेट लगाने का संदेश  |  स्पेन के वैज्ञानिकों ने किया दावा, नाले के पानी से ईधन बनाने वाला पर्पल बैक्टीरिया, बिजली बनाने होगा मदद   |  किचन में न हो बेसन, तो आलू से भी बना सकते हैं स्वादिष्ट कढ़ी, नोट करें ये चटपटी पजांबी रेसिपी   |  बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण फिल्म ''महाभारत'' में ''द्रौपदी'' का किरदार निभाती आएगी नजर   |  ममता बनर्जी बोली- बीजेपी माओवादियों से भी खतरनाक, भगवा पार्टी की बैठकों में लोग भेज करेगी डिस्टर्ब   |  जाने ऐसे कोण लोग गेन जिन्हे नहीं लगवानी हैं कोवैक्सीन, भारत बायोटेक ने साइड इफेक्ट पर मुआवजे का ऐलान  |  

धर्म

सूर्य का मकर में प्रवेश होने से अब शनि, बृहस्पति के साथ ये तीनों बड़े ग्रह मकर राशि में गए हैं।
हिन्दु पंचांग के अनुसार विनायक चतुर्थी 16 जनवरी को सुबह 11 बजे लगेगी और 17 जनवरी को 8.08 रात तक रहेगी।
मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन पवित्र नदी या तालाब में स्नान और दान करने से कई गुना पुण्य प्राप्त होता है।
लोहड़ी को पंजाब, हरियाणा और हिमाचल समेत पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जाता है।
हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, इस दिन दान-स्नान का विशेष महत्व होता है।
इस व्रत में श्रीहरि की कृपा से व्यक्ति को भौतिक सम्पन्नता भी मिलती है।
पारंपरिक तौर पर लोहड़ी फसल की बुआई और उसकी कटाई से जुड़ा एक विशेष त्यौहार है।
जानकारों का कहना है कि वास्तु शास्त्र के उपाय बहुत असरदार होते हैं।
साल 2021 का सबसे पहला महीना अपने साथ कई व्रत और त्योहार लेकर आ रहा है।
भगवान दत्तात्रेय को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है।
आने वाले वर्ष को सकारात्मक ऊर्जा और नए उत्साह के साथ जी सकते हैं।
आने वाले वर्ष में सभी को अच्छा स्वास्थ्य, कार्यक्षेत्र में उन्नति, परिवार में सुख-शांति मिले।
25 दिसंबर का दिन प्रभु यीशु के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है।
मार्गशीर्ष पूर्णिमा का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है, जानिए शुभ मुहूर्त।
आरोग्य पाना है, तो लाल रंग के गणेश जी की पूजा करना विशेष रूप से शुभ होता है।
भारतीय समयानुसार लोग अपनी आंख से ही 21 दिसंबर की शाम को सूरज ढलते ही पश्चिम दिशा में देख सकेंगे।
वास्तु शास्त्र में विभिन्न पेड़-पौधों का अपना एक अलग ही महत्व माना जाता है।
सूर्य देव के धनु राशि में प्रवेश करने को खरमास कहते हैं।
31 जनवरी 2020 रात्रि 12:00 बजे के बाद 00:00:01 बजे सन 2021 आरंभ होगा।
आज का सूर्य ग्रहण शाम 07:03 बजे से शुरू होगा और रात 12:23 बजे तक चलेगा।
महाभारत के युद्ध में अर्जुन के रथ पर हनुमान जी के विराजित होने के पीछे भी कारण है।
मार्गशीर्ष माह में कृष्ण पक्ष की एकादशी को उत्पन्ना एकादशी कहा जाता है।
साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर 2020, सोमवार को पड़ने जा रहा है।
दिसंबर के महीने में भगवान सूर्य धनु राशि में प्रवेश करेंगे।
23 दिसंबर को मंगल का मीन राशि से मेष राशि में प्रवेश हो रहा है।
आज सिख धर्म संस्थापक गुरुनानक देव जी की 551वीं जयंती है।
कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को वैकुण्ठ चतुर्दशी मनाई जाती है।
कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी देवउठनी एकादशी को भगवान विष्णु चार माह बाद जागते हैं।
कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को गोपाष्टमी मनाई जाती है।
महापर्व छठ के चार दिवसीय अनुष्ठान की शुरुआत बुधवार को नहाय-खाय के साथ होगी।
दिवाली के त्यौहार के अगले ही दिन गोवर्धन पूजा की परंपरा रही है।
अयोध्या में 492 वर्ष बाद रामजन्मभूमि पर भव्य दीपोत्सव का सपना साकार हो रहा है।
धनतेरस के दिन घर के कुछ खास जगहों की सफाई का विशेष महत्व है।
प्रेम मंदिर 11 नवंबर से श्रद्धालु भक्तों के लिए नियमित रूप से खुल जाएगा।
दिवाली से पहले कार्तिक मास की त्रयोदशी को धनतेरस मनाया जाता है।
करवा चौथ 2020: करवा चौथ पर महिलाओं को 16 श्रृंगार करना चाहिए।
नंदमहल मंदिर में जौहर की नमाज अदा से माहौल में सरगर्मी पैदा हो गई है।
शरद पूर्णिमा के बाद से कार्तिक का महीना लग जाता है। इस बार 1 नवंबर से कार्तिक का महीना लग रहा है।
इस बार दुर्गा अष्टमी, महानवमी और दशहरा की तिथियों को लेकर लोगों में कंफ्यूजन है
कार्तिकेय (स्कन्द) की माता होने के कारण इनको स्कन्दमाता कहा जाता है
नवरात्रि के पहले दिन यानी 17 अक्टूबर से सूर्य अपनी नीच राशि तुला में रहेंगे
अयोध्‍या में रामलीला का आरंभ प्रसारण डीडी नेशनल पर प्रतिदिन सायंकाल 7 से रात्रि 10 बजे तक किया जाएगा।
नवरात्रि का तीसरा दिन भय से मुक्ति और अपार साहस प्राप्त करने का होता है
नवरात्रों में माता के मंदिरों में कल प्रथम नवरात्रे पर मंदिरों में झंडा चढ़ाने की रस्में भी अदा की गई
कोरोना वायरस के मद्देनजर मंदिर को सिर्फ 5 दिन के लिए ही श्रद्धालुओं के लिए खोला गया
माता के दर्शन के लिए आने वाले यात्रियों को कोरोना निगेटिव का सर्टिफिकेट लेकर आना होगा
यह ईश्वर की कल्पना है. इसी प्रकार से ईश्वर की कल्पना के कई जगत हैं और ये तमाम लोक हमारे मन और आत्मा के साथ जुड़े हुए होते हैं. भौतिक जगत के साथ ही एक सूक्ष्म जगत भी होता है.
इस बार नवरात्रि के पहले दिन सूर्य देव राशि परिवर्तन कर रहे हैं
नवरात्रों में दुर्गा पूजा स्थलों पर मूर्ति नहीं मां दुर्गा इस साल कलश के रूप में पूजी जाएंगी
चार धाम में श्रद्धालुओं के दर्शन का समय बढ़ाया जाएगा। अब मंदिर में दर्शन दोपहर 12 बजे की बजाय तीन बजे तक किए जाने का निर्णय
जानिये किन कारणों से है इसका महत्व
जानें इन्हें शांत करने के उपाय
सामान्यतः इसका अर्थ होता है-रूझान, झुकाव, टैन्डैन्सी
युवाओं के बीच इस त्योहार को लेकर बड़ा क्रेज रहता है परन्तु इस साल यह आयोजन नहीं किया जायेगा
तब तक वह सत्य को भी न जान सकेगा, न आनंद को, न आत्मा को।
मध्यप्रदेश के उज्जैन में बढ़ते कोरोना संक्रमण के प्रभाव के कारण प्रसिद्ध दरगाह को 30 सितंबर तक के लिए बंद
भूलकर भी ना करें ये काम
पेड़-पौधे लगाने से पहले जरूर जान लें ये बातें
इस दिन आप यदि अपने पितरों की मुक्ति हेतु इन 8 धार्मिक पाठ को पढ़ते हैं या आयोजन करवाते हैं तो इससे पितरों का आशीर्वाद मिलता है
श्राद्ध में इस विधि से चुकाएं मातृ ऋण
जानिए किन राशियों के लिए होगा अच्छा संकेत और किन नहीं
मां लक्ष्मी के नाराजगी से होती हे धन की हानि
जिन शक्तियों के बल पर मनुष्य संसार में एक से एक ऊंचा कार्य कर सकता है मोक्ष जैसा परम पद प्राप्त कर सकता है, उनका इस तरह नष्ट हो जाना मानव जीवन की सबसे बड़ी क्षति है।
हिंदू धर्म में पितृपक्ष का विशेष महत्व है
नए घर में प्रवेश करने से पहले लोग हवन, पूजा-पाठ और कीर्तन आदि करवाते हैं।
इस्लाम धर्म में ईद-उल-अजहा का विशेष महत्व है।
इस बार वर्ष 2020 के श्रावण माह के दोनों प्रदोष के दिन शनिवार का संयोग बन रहा है।
आरएनएन | कथा के अनुसार अमरपुर नगर में एक धनी व्यापारी रहता था और वह बहुत बड़ा शिव भक्त था। लेकिन वह बहुत दुखी रहता था
आरएनएन | 6 जुलाई से पवित्र महीना सावन आरंभ होने जा रहा है। पहला दिन सोमवार के दिन सावन का महीना रहेगा।
नई दिल्ली,आरएनएन | भारत के उत्तरी हिस्सों में रविवार सुबह लगभग 10:25 बजे से वलयाकार सूर्य ग्रहण की खगोलीय घटना शुरू हो गई।
उत्तराखंड,एजेंसी | भारत में 21 जून को सूर्यग्रहण दिखेगा और देश के कुछ हिस्सों में यह वलयाकार नजर आएगा.
प्रयागराज, एजेंसी | आध्यात्मिक और न्यायिक नगरी तीर्थराज प्रयाग में 75 दिनों के लॉकडाउन से आराध्य के दर्शन को तरस रहे भक्तों की मुराद सोमवार को मंदिरों के कपाट खुलने के बाद पूजा-आरती कर पूरी हो गई।
नई दिल्‍ली ,एजेंसी | इस साल का दूसरा चंद्रग्रहण 5 जून की रात 11.16 बजे से लग रहा है। इसकी अवधि करीब सवा तीन घंटे होगी।
अयोध्या, एजेंसी | बद्रिकाश्रम के शंकराचार्य एवं श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के वरिष्ठ सदस्य वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा कि समतलीकरण के बाद ही राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन किया जायेगा।
Advertisement


Copyright @ 2018 Rashtriya News Network